अगर आप भी रोज़ाना माउथवाश इस्तेमाल करते है तो हो जाए सावधान: रिसर्च में हुआ चौंकाने वाला खुलासा

शराब, तम्बाकू और पान मसाला के सेवन से कैंसर होता है, यह तो सब जानते हैं, पर क्या आप जानते हैं कि माउथवॉश का लगातार इस्तेमाल करने से भी कैंसर हो सकता है?
अगर आप भी रोज़ाना माउथवाश इस्तेमाल करते है तो हो जाए सावधान: रिसर्च में हुआ चौंकाने वाला खुलासा
Jaano Junction

अक्सर यह कहा जाता है कि माउथवॉश का इस्तेमाल मुँह में जमे बैक्टीरिया को हटाने और मुँह में बदबू कम करने के लिए किया जाता है। पर क्या आप जानते हैं कि आपका माउथवॉश आपके लिए कितना हानिकारक हो सकता है?

शराब, तम्बाकू और पान मसाला के सेवन से कैंसर होता है, यह तो सब जानते हैं, पर क्या आप जानते हैं कि माउथवॉश का लगातार इस्तेमाल करने से भी कैंसर हो सकता है?

लिस्टेरिन माउथवॉश का इस्तेमाल मुँह से बदबू को कम करता है, मसूड़ों की सूजन को कम करता है और अन्य मुँह से जुड़ी समस्याओं को रोकता है। लेकिन जून 2024 के जर्नल ऑफ मेडिकल माइक्रोबायोलॉजी की रिपोर्ट्स में बताया गया कि 3 महीने लगातार "लिस्टेरिन" माउथवॉश इस्तेमाल करने से दो प्रकार के बैक्टीरिया: फ्यूसोबैक्टीरियम न्यूक्लियेटम (Fusobacterium Nucletam) और स्ट्रेप्टोकोकस एंजिनोसस (Streptococcus Agninonus) बढ़ जाते हैं और यह दो बैक्टीरिया कैंसर से जुड़े होते हैं।

2016 में नेशनल लाइब्रेरी ऑफ मेडिसिन के रिसर्च में पाया गया कि कुछ माउथवॉश में अल्कोहल होता है। 18 से 27% के बीच अल्कोहलिक माउथवॉश पतली परत को नष्ट करता है और मुँह में नए बैक्टीरिया पैदा होते हैं। अल्कोहल माउथवॉश में पाया गया एसीटैल्डिहाइड, जो इथेनॉल का पहला मेटाबोलाइट है, मुँह, गले, स्वरयंत्र और अन्नप्रणाली (खासकर ऊपरी श्वसन पथ में) कैंसर होने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। लगातार माउथवॉश इस्तेमाल करने से एसीटैल्डिहाइड इंसानों के शरीर में, खासकर लार माध्यम में बढ़ता है, जिससे मुँह में लार की मात्रा कम हो जाती है। 2009 में ऑस्ट्रेलियाई रिसर्चर्स ने भी बताया कि अल्कोहलिक माउथवॉश के इस्तेमाल से कोलोरेक्टल कैंसर का खतरा बढ़ जाता है।

मार्केट में कई जगहों पर अल्कोहल माउथवॉश मिलता है, पर माउथवॉश को हम घर में बनाकर भी इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। यह कुछ आयुर्वेदिक माउथवाश जो आम माउथवाश से कई ज़्यादा कारगर है-

1) बेकिंग सोडा माउथवाश: बेकिंग सोडा का इस्तेमाल से मुँह में बैक्टरिया को मारना, मुँह से बदबू को कम करता है, और मसूड़ों - दाँत को स्वस्थ रखता है।

2) एप्पल साइडर विनेगर माउथवाश: इस माउथवाश का इस्तेमाल मुँह में बैक्टरिया को मारता है और मसूड़ों से जुड़ी समस्याओं को कम करता है।

3) दालचीनी माउथवाश: यह माउथवाश उन बैक्टीरिया से रक्षा करता है जो दांतों की सड़न और मुंह से दुर्गंध आने का कारण बनते हैं।

4) लौंग का तेल- इसका इस्तेमाल दाँत और मसूड़ों के दर्द में होता है।

5) नमक: नमक का माउथवाश इस्तेमाल करने से कैविटी और मसूड़ों की सूजन को कम करता है।

Stay connected to Jaano Junction on Instagram, Facebook, YouTube, Twitter and Koo. Listen to our Podcast on Spotify or Apple Podcasts.

logo
Jaano Junction
www.jaanojunction.com